फ़िल्म के बाद 77 पेज की दास्तां-ए-बेरोजगारी पुस्तक लॉन्च-

228
- नेशनल दुनिया पर विज्ञापन देने के लिए संपर्क करें 9828999333-
dr. rajvendra chaudhary jaipur-hospital

जयपुर।

राजस्थान में 7 दिसंबर को होने वाले विधानसभा चुनाव को लेकर भारतीय जनता पार्टी ने अपना घोषणापत्र आज जारी कर दिया।

भाजपा की तरफ से जारी किए गए घोषणा पत्र में प्रदेश के 30,000 बेरोजगारों को हर साल सरकारी नौकरी देने का वादा किया गया है, वहीं 5 साल में 50 लाख बेरोजगारों को रोजगार के अवसर मुहैया करवाए जाएंगे।

एक तरफ जहां भारतीय जनता पार्टी के घोषणापत्र को लॉन्च करने में केंद्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली प्रदेश की मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे केंद्रीय मंत्री अर्जुन राम मेघवाल सहित संपूर्ण भाजपा जुटी हुई है थी।

उसी वक्त दूसरी तरफ जयपुर में से ही प्रदेश में बीते 5 बरस से बेरोजगारों के लिए संघर्ष कर रहे राजस्थान बेरोजगार एकीकृत महासंघ के अध्यक्ष उपेन यादव ने भी अपने 5 साल के संघर्ष की एक पुस्तिका का विमोचन कर दिया।

77 पेज की इस पुस्तिका में उपेन यादव ने जहां पुलिस के द्वारा बसाए गए डंडों और लाठियों का जिक्र किया है, तो साथ ही साथ इस दौरान मीडिया के द्वारा कवर की गई खबरों की कटिंग और उसके साथ ही अन्य दूसरे सबूत भी प्रकाशित किए हैं।

पुस्तक में राज्य सरकार के शिक्षा मंत्री समेत अन्य मंत्रियों के द्वारा दिए गए आश्वासन, उपेन यादव के द्वारा किए गए संघर्ष, अनशन और धरने प्रदर्शनों की एक विशाल श्रंखला प्रकाशित की गई है।

इससे पहले इसी वर्ष के शुरुआत में उपेन यादव एंड कंपनी ने बेरोजगार के लिए दास्तां-ए-बेरोजगार नाम से एक शार्ट फिल्म भी लॉन्च की थी, जिसमें प्रदेश के बेरोजगारों की कहानियां दिखाई गई थी।

आपको बता दें कि राजस्थान में सरकार बनने से पहले भजपा ने 2013 में अपने घोषणा पत्र में 15 लाख बेरोजगारों को 5 साल में रोजगार मुहैया करवाने का वादा किया था।

सरकार का दावा है कि इस दौरान 2.3 लाख बेरोजगारों को सरकारी नौकरी दी गई, एक लाख रोजगार सरकारी नौकरियां अभी पाइप लाइन में है और इसके अलावा साढे 14 लाख बेरोजगारों को रोजगार मुहैया करवाने का काम किया गया है।

आज भारतीय जनता पार्टी के द्वारा जारी किए गए घोषणापत्र में अगले 5 साल के दौरान हर साल 30,000 युवाओं को सरकारी नौकरी और अगले 5 साल में 50 लाख बेरोजगारों के लिए रोजगार सृजन करने का वादा किया गया है।