Hanuman beniwal RLP
Hanuman beniwal RLP

जयपुर। विधानसभा चुनाव से सही 20 दिन पहले नई पार्टी का गठन कर प्रदेश में सभी 200 सीटों पर चुनाव लड़कर सरकार बनाने का दावा करने वाले पार्टी संयोजक ने फिर से प्रदेश जीतने की हूंकार भरी है। यह बात और है कि टिकट केवल 57 जनों को दिया और उनमें से भी महज 3 ही प्रत्याशी जिता पाए।

बात कर रहे हैं राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी के संयोजक और खींवसर से विधायक हनुमान बेनीवाल की। बेनीवाल ने एक बार फिर हूंकार भरी है। उन्होंने दावा किया है कि वह सभी 25 लोकसभा सीटों पर अपने उम्मीदवार उतारेंगे।

इसके साथ ही विधायक बेनीवाल ने यह भी दावा किया है कि जिस तरह से विधानसभा चुनाव में भाजपा को सत्ता से बाहर किया और कांग्रेस को आईसीयू में ले आए, ठीक वैसे ही लोकसभाचुनाव में भी दोनों दलों को धूल चटा देंगे।

मीडिया से बात करते हुए बेनीवाल ने दावा किया है कि उनकी बात बसपा, सीपीएम और बीटीपी से बात चल रही है, जल्द ही कोई नतीजा निकलेगा और उसके बाद टिकटों की घोषणा की जाएगी। उन्होंने बताया कि विधानसभा चुनाव में भी वह बीएसपी से बात कर चुके हैं, लेकिन तब गठबंधन नहीं हो पाया, इस बार संभावना है।

आपको याद दिला दें कि आरएलपी के गठन के साथ ही बेनीवाल ने ऐलान किया था कि सभी 200 विधानसभा सीटों पर उम्मीदवार उतारकर सत्ता हासिल की जाएगी, लेकिन अंतत: उनकी पार्टी ने केवल 57 सीटों पर टिकट दिए।

उसके बाद उन्होंने हेलिकॉप्टर से प्रदेश के कई जिलों में सभाएं कीं। किंतु बेनीवाल की पार्टी से केवल 3 उम्मीदवार ही विधानसभा तक पहुंच पाए। खुद खींवसर से हनुमान बेनीवाल, भोपालगढ़ से पुखराज गर्ग और मे​डतासिटी से इंदिरा देवी ने मैदान मारा था।

आपको बता दें कि भारतीय ट्राइबल पार्टी ने भी पहली बार ही अपने प्रत्याशी मैदान में उतारे थे, जिनमें से 2 उम्मीदवार विधायक बनने में कामयाब रहे। जबकि बसपा के 6 और सीपीएम के 2 उम्मीदवार जीतकर बेनीवाल के साथ सदन पहुंचे हैं।

अब बेनीवाल ने इन्हीं सब विधायकों वाली पार्टियों, बहुजन समाज पार्टी, भारतीय ट्राइबल पार्टी और मार्क्सवादी कम्यूनिस्ट पार्टी के दम पर फिर सभी 25 की 25 लोकसभा सीटों पर दम दिखाने की हूंकार भरी है। बहरहाल, बेनीवाल ने आज तक एक भी उम्मीदवार के नाम का ऐलान नहीं किया है। जबकि भाजपा 16 उम्मीदवारों की पहली सूची जारी कर चुकी है।

गौरतलब यह भी है कि बेनीवाल ने कहा है कि जिस तरह से विधानसभा में उनकी पार्टी ने 3.5 लाख से ज्यादा वोट हासिल किए हैं, उसके मुताबिक यदि उनको बसपा, बीटीपी, सीपीएम समेत अन्य गैर भाजपा—कांग्रेसी दलों से गठबंधन लोकसभा में भी बड़ी भूमिका निभाएंगे।

अधिक खबरों के लिए हमारी वेबसाइट www.nationaldunia.com पर विजिट करें। Facebook,Twitter पे फॉलो करें।