नई दिल्ली।

लोकसभा चुनाव को लेकर सभी पार्टियां मैदान में उतर चुकी हैं। संभावना है कि अप्रैल और मई में 2019 के आम चुनाव संपन्न हो जाएंगे।

लोकसभा चुनाव को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, भारतीय जनता पार्टी के अध्यक्ष अमित शाह, कांग्रेस पार्टी के अध्यक्ष राहुल अन्य राजनीतिक पार्टियों में आम आदमी पार्टी, समाजवादी पार्टी, बहुजन समाज पार्टी समेत सभी प्रमुख दल चुनाव के लिए तैयारी में जुट चुके हैं।

इस बीच देश के सबसे बड़े सूबे, यानी उत्तर प्रदेश से चौंकाने वाली खबर सामने आई है। महागठबंधन को लेकर प्रयासरत कांग्रेस पार्टी को झटका देते हुए समाजवादी पार्टी और बहुजन समाज पार्टी ने उत्तर प्रदेश में केवल 2 सीट देने का ऐलान किया है।

उत्तर प्रदेश में अखिलेश यादव की समाजवादी पार्टी और उनकी बुआ कही जाने वाली मायावती की बहुजन समाज पार्टी ने यूपी में लोकसभा चुनाव के लिए कांग्रेस को 2 सीट ऑफर की है, जिनमें एक अमेठी और दूसरी रायबरेली है।

महागठबंधन की मोटे तौर पर सभी दलों में सहमति बन चुकी है, लेकिन समाजवादी पार्टी और बहुजन समाज पार्टी द्वारा अपने-अपने हिस्से में 37-37 सीटें बांटने के बाद कांग्रेस के लिए असहज स्थिति बताई जा रही है।

सूत्रों की मानें तो दिल्ली में समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव और बहुजन समाज पार्टी की मुखिया मायावती के बीच बीती रात लंबी बैठक हुई, जिसमें सीटों को लेकर यह सहमति बनी बताई जा रही है।

हालांकि, समाजवादी पार्टी के नेता इस मामले पर अभी भी चुप्पी साधे हुए हैं। सीटों के बंटवारे को लेकर किसी भी नेता ने कुछ बोलने से इनकार किया है। सूत्रों की माने तो बैठक में सीटों के बंटवारे को लेकर लंबी बात हुई, जिसके बाद कांग्रेस को केवल 2 सीट देने पर सहमति बनी है।

दूसरी ओर राष्ट्रीय लोकतांत्रिक दल के मुखिया अजित सिंह के लिए मथुरा और बागपत की सीट छोड़ने की बात सामने आई है। बागपत से अजीत सिंह की परंपरागत सीट मानी जाती है, जबकि उनके बेटे जयंत सिंह को मथुरा की सीट से चुनाव लगाया जा सकता है।

महागठबंधन में शामिल होने के लिए भाजपा छोड़कर सांसद सावित्री बाई फुले यदि सपा या बसपा से चुनाव लड़ती हैं तो उन्हें भी एक सीट दी जा सकती है। साथ ही दूसरे सहयोगी दलों को दो और सीट दी जा सकती है।

आपको बताते हैं कि कांग्रेस की पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष सोनिया गांधी के लिए रायबरेली की सीट और कांग्रेस के वर्तमान अध्यक्ष राहुल गांधी के लिए अमेठी की सीट कांग्रेस को देने पर बात हुई है।

सूत्रों के मुताबिक की बहुजन समाज पार्टी के मुखिया मायावती गठबंधन को लेकर लखनऊ में 10 जनवरी को बैठक करेंगी। उसके बाद वह महागठबंधन की घोषणा कर सकती हैं। मायावती दिल्ली में है और 15 जनवरी को जन्मदिन मनाने के लिए लखनऊ जाएंगी।

अधिक खबरों के लिए हमारी वेबसाइट www.nationaldunia.com पर विजिट करें। Facebook,Twitter पे फॉलो करें।