Nationaldunia

अहमदाबाद।

स्कूल के बच्चों को हाजिरी लगावाने या अध्यापक के पुकारने पर ‘यस सर’ नहीं बोलना होगा। इसकी जगह सरकार ने ‘:जय हिंद’ या ‘जय भारत’ बोलने के निर्देश दिए हैं। शिक्षा विभाग ने यह आदेश एक जनवरी 2019 को पहली से लेकर आठवीं कक्षा तक के बच्चों के लिए लागू किया है।

आदेश गुजरात सरकार ने जारी किया है। गुजरात के स्कूली शिक्षा मंत्री भुपेंद्र सिंह चूडास्मा ने बताया कि विभाग के आला अधिकारियों के साथ बैठक में यह तय किया गया है।

उन्होंने बताया कि बच्चों में राष्ट्रभक्ति की भावना विकसित करने के लिए ‘जय हिंद’ या ‘जय भारत’ बोलने फैसला किया गया है।

चूडास्मा के अनुसार सभी सरकारी और प्राइवेट स्कूलों के एक से लेकर आठवीं तक के विद्यार्थियों को ‘जय हिंद’ या ‘जय भारत’ बोलने के निर्देश दिए गए हैं।

आपको बता दें कि करीब दो दशक पहले तक सभी सरकारी और प्राइवेट स्कूलों में ‘जय हिंद’ और ‘जय भारत’ बोलने की परंपरा थी, लेकिन जैसे—जैसे निजी विद्यालयों का जाल बढ़ता गया, वैसे ही ‘यस सर’ का चलन शुरू हो गया।