nationaldunia

जयपुर।
प्रदेश के नव नियुक्त चिकित्सा एवं स्वास्थ्य मंत्री रघु शर्मा ने कहा है कि जो नि:शुल्क दवा और जांच योजना पूर्व अशोक गहलोत सरकार ने शुरू की थी, उसको अब नए आयात स्थापित करने के लिए उनके प्रयास रहेंगे।

शर्मा ने कहा है कि सभी अधिकारियों को साफ कह दिया गया है कि प्रदेश में भ्रष्टाचार को बिलकुल भी बर्दास्त नहीं किया जाएगा।

अपने विभाग में कामकाज संभालने के बाद रघु शर्मा ने अधिकारियों के साथ बैठक की। उन्होंने कहा कि जब तक नि:शुल्क दवा एवं जांच योजना की सप्लाई पूरी नहीं होती है, तब तक चैन से नहीं बैठेंगे।

रघु शर्मा ने एनएचएम के निदेशक डॉ. समित शर्मा को भी इस योजना में व्याप्त खामियां दूर कर आम, गरीब और हर मरीज को इसका लाभ देने के लिए जरुरी काम करने के निर्देश दिए हैं।

शर्मा ने अपने विभाग में अधिकारियों-कर्मचारियों को साफ कहा है कि किसी भी व्यक्ति द्वारा भ्रष्टाचार का प्रयास किया गया तो उसके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी।

इस अवसर पर रघु शर्मा ने कहा कि पूर्व सरकार द्वारा इस विभाग में भ्रष्टाचार को प्रश्रय दिया गया, जिसके चलते कई अधिकारियों और कर्मचारियों को जेल की हवा खानी पड़ी।

उन्होंने कहा है कि मुख्यमंत्री अशोक गहलोत की पूर्व सरकार द्वारा जो दवा एवं जांच योजना शुरू की गई थी, वह बाद में देश-विदेश में एक मॉडल बनकर उभरी।

बाद में इस योजना की बारीकियां जानने और समझने के लिए गुजरात में तत्कालीन मुख्यमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी अपने अधिकारी भेजकर इस योजना की बारीकियां समझने का प्रयास किया था।

अधिक खबरों के लिए हमारी वेबसाइट www.nationaldunia.com पर विजिट करें। Facebook,Twitter पे फॉलो करें।