एसएमएस और अजमेर मेडिकल कॉलेज को मिले नए प्रिंसिपल

65
- Advertisement - dr. rajvendra chaudhary

जयपुर।

लंबे समय से विवादित रहे सवाई मानसिंह मेडिकल कॉलेज को कार्यवाहक प्रिंसिपल एन्ड कंट्रोलर मिल गया है। एसएमएस मेडिकल कॉलेज के अलावा अजमेर की जवाहरलाल नेहरू अस्पताल वाले मेडिकल कॉलेज में भी नए प्राचार्य नियुक्त कर दिए गए हैं।

सरकारी आदेशानुसार सवाई मानसिंह मेडिकल कॉलेज के नए प्रिंसिपल की नियुक्ति होने तक कार्यवाहक के तौर पर प्रधानाचार्य एवं नियंत्रक डॉ. सुधीर भंडारी होंगे।

डॉ. भंडारी जनरल मेडिसिन में वरिष्ठ आचार्य हैं। वे राज्यपाल कल्याण सिंह, मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे और पूर्व मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के मेडिसन सलाहकार डॉक्टर भी हैं।

इसी तरह अजमेर मेडिकल कॉलेज में डॉ. अनिल कुमार जैन को प्रधानाचार्य एवं नियंत्रक पद पर लगाया गया है। डॉ. जैन शिशु और औषधि में वरिष्ठ आचार्य हैं।

राजस्थान सरकार के चिकित्सा शिक्षा विभाग ने शुक्रवार दोपहर बाद इसके ऑर्डर जारी कर दिए हैं। इससे पहले सवाई मानसिंह मेडिकल कॉलेज के प्रधानाचार्य एवं नियंत्रक पद पर डॉ. यूएस अग्रवाल कार्यरत थे।

हालांकि, डॉ. यूएस अग्रवाल करीब 1 साल पहले रिटायर हो गए थे, लेकिन सरकार के द्वारा डॉक्टरों की सेवानिवृत्ति की उम्र बढ़ाकर 65 साल करने के कारण वह इस पद पर बने हुए थे। इसपर मामला विवादित होकर कोर्ट में चल रहा था।

2 दिन पहले ही राजस्थान कोर्ट ने एक आदेश जारी करते हुए कहा था कि भले ही डॉक्टरों की सेवानिवृत्ति की उम्र बढ़ाकर 65 साल कर दी हो, लेकिन प्रधानाचार्य एवं नियंत्रक के पद पर डॉ. यूएस अग्रवाल नहीं रह सकते। कोई भी डॉक्टर 62 साल के बाद प्रशासनिक पद पर नहीं रह सकता।

कुछ ही दिनों बाद विधानसभा चुनाव को लेकर लगने वाली आचार संहिता की संभावना के चलते राजस्थान सरकार ने आदेश जारी कर दोनों मेडिकल कॉलेज में प्रिंसिपल नियुक्त कर दिए हैं।