दो विवि, दोनों में हार, लेकिन पचा नहीं पा रही ABVP

0
23
nationaldunia
- Advertisement - dr. rajvendra chaudhary

-राजस्थान विवि में निर्दलीय को लेकर लड़ रही है एबीवीपी, जोधपुर में एनएसयूआई के उम्मीदवार वोट और योग्यता की जांच शुरू

जयपुर। पिछले माह ही राजस्थान के विश्वविद्यालयों और महाविद्यालयों में छात्रसंघ चुनाव सम्पन्न हुए। अधिकांश यूनिवर्सिटीज में एबीवीपी ने जीत दर्ज की।

राजस्थान विश्वविद्यालय और जोधपुर विवि में संगठन को हारी मिली, लेकिन इस हार को संगठन पचा नहीं पा रहा है।

राजस्थान विवि में जहां निर्दलीय अध्यक्ष विनोद जाखड़ के उपर 2015 में दर्ज हुए एक प्रकरण लेकर अयोग्य करार देते हुए एबीवीपी ने विवि की निष्पक्षता पर गंभीर सवाल उठाए हैं।

इस मामले को लेकर संगठन ने कुलपति प्रो. आर.के. कोठारी से शिकायत करते हुए कहा है कि विनोद जाखड़ 2015 में राजस्थान कॉलेज का अध्यक्ष रहते हुए अपनी जगह दूसरे छात्र को परीक्षा देने के मामले में सजायाप्ता हैं।

इसके लिए विवि ने ग्रिवांस सेल में जांच बिठा दी है। संगठन को 6 अक्टूबर तक सभी सबूत देने को कहा गया है। उसके बाद विवि प्रशासन अगला कदम उठाएगा।

दूसरी ओर जोधपुर के जय नारायण व्यास विवि में नाटकीय घटनाक्रम के बाद रात 2 बजे 9 वोट से जीते एनएसयूआई के उम्मीदवार सुनील चौधरी को एबीवीपी के प्रत्याशी मूलसिंह राठौड़ ने आयोग्य करार देते हुए चुनाव रद्द करने की मांग की है।

इस मामले में विवि के अध्यक्ष रहे केंद्रीय कृषि राज्यमंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत सीधा दखल दे रहे हैं। मामले को विवि में निर्वाचन अधिकारी प्रो. अवधेश शर्मा ने कहा है कि जब तक अंतिम फैसला नहीं हो जाता है, तब तक सुनील चौधरी को अध्यक्ष नहीं माना जाएगा।

कुलपति प्रो. राधेश्याम शर्मा ने 13 अक्टूबर को इस मामले में सुनवाई करने को कहा है। सुनील चौधरी की बीटेक डिग्री में एबीवीपी ने गड़बड़ी बताई है।

Leave a Reply