बॉयफ्रेंड या गर्लफ्रेंड नहीं, तो आप यूनिवर्सिटी में पढ़ने के योग्य नहीं-

11
- Advertisement - dr. rajvendra chaudhary

जयपुर।

वैसे तो बॉयफ्रेंड और गर्लफ्रेंड होना भारतीय सभ्यता और संस्कृति के हिसाब से गलत माना जाता है। लेकिन राजस्थान में एक विश्वविद्यालय ऐसा भी है, जिसमें प्रत्येक स्टूडेंट के कम से कम एक बॉयफ्रेंड और गर्लफ्रेंड, यानी कि पुरुष मित्र और महिला मित्र होना अनिवार्य है।

इस बाबत विश्वविद्यालय ने बाकायदा एक सर्कुलर निकालकर आदेश जारी किया है। विश्वविद्यालय कहा है कि यदि किसी विद्यार्थी के बॉयफ्रेंड और गर्लफ्रेंड नहीं है, तो वह विश्वविद्यालय में प्रवेश नहीं कर सकता। ऐसी स्थिति में यदि कोई स्टूडेंट बिना बॉयफ्रेंड या गर्लफ्रेंड के विश्वविद्यालय परिसर में पाए गए तो आपके ऊपर तुरंत प्रभाव से 1000 रुपए का जुर्माना लगाया जाएगा।

यह आॅडर जारी करने वाली एक प्राइवेट यूनिवर्सिटी है। यह यूनिवर्सिटी दिल्ली रोड पर है, जिसका नाम है ‘एमिटी विश्वविद्यालय’। एमिटी विश्वविद्यालय प्रशासन ने 13 अगस्त 2018 को एक सर्कुलर जारी करके कहा है, कि प्रत्येक विद्यार्थी के कम से कम एक गर्लफ्रेंड और एक बॉयफ्रेंड होना अनिवार्य है।

लड़की, जिसके बॉयफ्रेंड होना अनिवार्य है। वहीं लड़का, जिसके गर्लफ्रेंड, यानी महिला मित्र होना जरूरी है। प्रशासन ने अपने आदेश में कहा है कि इस विश्वविद्यालय में पढ़ने वाले प्रत्येक विद्यार्थी के लिए अनिवार्य है, वरना एक हजार रुपए का जुर्माना वसूला जाएगा।

विश्वविद्यालय का यह सर्कुलर सोशल मीडिया पर बहुत तेजी से वायरल हो रहा है। सर्कुलर वायरल होने के बाद विश्वविद्यालय के खिलाफ यूजीसी तक में शिकायत कर दी गई है।

यहां तक कि राजस्थान सरकार के उच्च शिक्षा विभाग में भी शिकायत की गई है। हालांकि, अभी तक इस विश्वविद्यालय के खिलाफ किसी तरह का कोई एक्शन होने या एक्शन होने की स्थिति दिखाई नहीं दे रही है। ऐसे में कहा जा सकता है कि राजस्थान में भारतीय संस्कृति और सभ्यता को लेकर किस कदर खिलवाड़ किया जा रहा है।

इधर, विवि प्रशासन ने इस मामले को झूठा करार देते हुए किसी की शरारत बताया है। विवि प्रशासन ने कहा है कि इस मामले को लेकर इंटरनल कमेटी का गठन किया गया, जो जांच कर अपनी रिपोर्ट देगी।

नोट:—हम इस पत्र की वास्त्विकता की पुष्टि नहीं करते हैं।

इसी तरह की ताजा खबरों के लिए हमारे साथ बने रहिए। हमें सरकारी दबाव से मुक्त रखने के लिए आप हमारे पेटीएम नंबर 9828999333 पर आर्थिक मदद कर सकते हैं।