कंपनी: भामाशाह बीमा में उपचार नहीं करेंगे, सरकार: कंपनी की यह कार्यवाही अवैध है

11
nationaldunia
- Advertisement - dr. rajvendra chaudhary

जयपुर। सरकार के द्वारा 106 करोड़ रुपए की किस्त राशि रोके जाने के कारण बीते चार दिन से राज्य में भामाशाह स्वास्थ्य बीमा योजना के तहत उपचार बंद पड़े हैं।

कंपनी के द्वारा सभी अस्पतालों को मेल भेजकर इस योजना के तहत 13 सितंबर के बाद मरीज भर्ती नहीं करने और कंपनी को क्लेम भेजने से इनकार किया है।

इधर, सरकार लगातार तीसरे दिन भी यह दावा कर रही है कि सभी अस्पतालों में पहले की भांति उपचार हो रहा है। लेकिन सबसे अहम बात यह है कि किसी भी अस्पताल ने सरकार के दावे का सही नहीं बताया है।

आज राज्य के राजस्थान स्टेट हैल्थ इंशोरेंस एजेंसी के मुख्य कार्यकारी अधिकारी नवीन जैन ने कंपनी के द्वारा मेल भेजकर उपचार नहीं करने की बात को अवैधानिक और गैर कानूनी करार दिया है।

मजेदार बात यह है कि एक ओर सरकार जहां योजना के तहत लगातार उपचार जारी रहने का दावा कर रही है, वहीं कंपनी की इस गतिविधि को गैर कानूनी भी करार दे रही है।

ऐसे में जहां प्राइवेट अस्पताल भामाशाह स्वास्थ्य बीमा योजना के तहत मरीजों की भर्ती करने से कतरा रहे हैं, वहीं सरकार आंकड़े पेश कर रोज दावा कर रही है कि योजना के अंतर्गत उपचार जारी है।

सरकार का कहना है कि 12 सितंबर की आधी रात के बाद कुछ दावे नकारे गए थे, लेकिन उनको फिर से जारी किया जाएगा। साथ ही यह भी दावा किया है कि कंपनी सभी क्लेम्स पूरे किए जाएंगे।